Breaking News
Home 25 खबरें 25 महिला ने पड़ोसी से बदला लेने के लिए बेटे के खाने में मिलाया जहर, फिर शव जलाया || WI NEWS

महिला ने पड़ोसी से बदला लेने के लिए बेटे के खाने में मिलाया जहर, फिर शव जलाया || WI NEWS

Spread the love

भोपाल. कोलार रोड के चीचली गांव से रविवार शाम घर के बाहर से रहस्यमय ढंग से लापता हुए पौने चार साल के वरुण का शव पुलिस ने मंगलवार की दोपहर अधजली हालत में बरामद किया। पुलिस को उसका शव उसके घर के सामने खाली पड़े एक मकान में मिला है। पुलिस ने बच्चे की हत्या के आरोप में सुनीता सोलंकी नाम की महिला और उसके बेटे को गिरफ्तार किया है। सुनीता से पूछताछ में खुलासा हुआ कि एक महीने पहले उसके घर चोरी हुई थी। चोरी का शक बच्चे के पिता पर था। उसी का बदला लेने के लिए उसने वरुण के खाने में जहर मिलाकर उसकी हत्या कर दी।

 
डीआईजी इरशाद वली ने बताया कि चीचली गांव निवासी वरुण मीणा रविवार की शाम करीब सात बजे घर के बाहर से लापता हो गया था। 100 से ज्यादा पुलिसकर्मी बच्चे की सर्चिंग कर रहे थे। परिजनों ने एक क्रेटा गाड़ी से बच्चे के अपहरण की आशंका जाहिर की थी। पुलिस ने सोमवार को चीचली के सभी घरों की तलाशी ली थी, लेकिन बच्चे का कोई सुराग नहीं लगा था।

मंगलवार की दोपहर एसडीओपी मिसरोद अनिल त्रिपाठी और कोलार टीआई अनिल बाजपेयी ने बच्चे के घर के आसपास के इलाके में स्थानीय लोगों के साथ दोबारा सर्चिंग शुरू की गई थी। दोपहर करीब 1.45 बजे खाली पड़े एक मकान में सर्चिंग की गई तो वहां एक बच्चे की अध जली लाश पुलिस को मिली। बचपन से बच्चे के पैर में बंधे एक ताबीज और कपड़ों से शव की शिनाख्त वरुण के रूप में हुई है।

क्या हुआ था रविवार की रात… बच्चे को चींटी मारने की दवा खिला दी, बेहोश हुआ तो कंटेनर में रख दिया, बाद में दूसरी टंकी में शिफ्ट कर ऊपर से गेहूं डाल दिए

  • 7 बजे: बच्चा खेलते-खेलते सुनीता के घर पहुंचा और उसने खाना मांगा। सुनीता ने सब्जी में चींटी मार दवा मिलाकर उसे खिला दी। इससे वह बेहोश हो गया।
  • 8:30 बजे. बेहोशी की हालात में ही बच्चे को पानी के एक खाली कंटेनर में रख दिया। इसके बाद गांव वालों के साथ बच्चे को तलाशती रही। 
  • 11 बजे : सुनीता वापस आई और पानी के कंटेनर से वरुण को निकालकर गेहूूं की टंकी में रख दिया और उसके ऊपर दोबारा गेहंूू भर दिए। पुलिस ने घर की तलाशी ली, लेकिन बच्चा उन्हें कहीं नहीं मिला।  

मंगलवार तड़के शव पहले गली में फेंका, फिर सूने मकान में ले जाकर जला दिया : सुनीता ने मंगलवार तड़के शव गेहूं की टंकी से निकाला और दुपट्टे में लपेटकर घर के बाहर लाई। शव को पड़ोस की गली में फेंक दिया। इसके बाद वह अपने घर से निकली और बाजू वाले मकान में पहुंची। शव को उठाकर मकान के पिछले हिस्से में लेकर गई। वहां कमरे में और भी कुछ कपड़े पड़े थे। कपड़े शव से लपेटने के बाद आग लगा दी। धुआं ज्यादा नहीं फैले इसलिए पानी डाल दिया था। 

कैसे हुआ सुनीता के अपराध का खुलासा . शव पर गेहूं चिपके थे, गेहूं के पीछे-पीछे सुनीता के घर तक पहुंची पुलिस पुलिस ने जहां से शव बरामद किया, वहां आसपास गेहूं बिखरा हुआ था और बच्चे के शरीर पर भी गेहूं के दाने चिपके हुए थे। गेहूं के दानों के आधार पर ही पुलिस सुनीता के घर तक पहुंची। वहां गेहूं सूखते मिले तो शक यकीन में बदल गया।

सुनीता के घर व उसके कपड़ों से दुर्गंध आ रही थी। पुलिस ने उससे पूछताछ की तो उसने कहा- बदबू टॉयलेट की है, फिर बोली कि सुबह चूहा मर गया था। लेकिन पुलिस ने जब गेहूं की टंकी खोली तो उसमें से शव सड़ने की दुर्गंध आ रही थी। एफएसएल टीम ने घर का परीक्षण किया, जिसमें बच्चे का शव उसके घर में ही छिपाकर रखे जाने की पुष्टि हो गई।

1 माह पहले हुई थी चोरी, बच्चे के पिता पर था शक, इसलिए बच्चे की हत्या करी : सुनीता ने पूछताछ में बताया कि 16 जून को वह एक शादी में शामिल होने बाहर गई थी। इस दौरान उसके घर में डेढ़ किलो चांदी, सोने के दो बूंदे और 30 हजार रु. चोरी हो गए थे। चोरी की घटना के बाद वरुण के पिता विपिन और उनका परिवार रोजाना पार्टी कर रहे थे। सुनीता को विपिन पर चोरी करने का शक था। इसी का बदला लेने के लिए उसने वरुण को मार डाला। 

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*