Breaking News
Home 25 खबरें 25 एक को दिखाई नहीं देता तो दूसरा चल नहीं सकता, फिर भी दोनों ने पहाड़ पर की चढ़ाई || WI NEWS

एक को दिखाई नहीं देता तो दूसरा चल नहीं सकता, फिर भी दोनों ने पहाड़ पर की चढ़ाई || WI NEWS

Spread the love

कोलोराडो (अमेरिका). कहते हैं कि अगर टीम वर्क हो तो आप सभी बाधाओं को पार कर सकते हैं। कोलोराडो के मैलनी नैक्ट और ट्रेवर हन ने इसे साबित कर दिया। दरअसल मैलनी चल नहीं सकतीं और ट्रेवर देख नहीं सकते। इसके बावजूद भी दोनों कोलोराडो का पहाड़ चढ़ गए। अब दोनों 14000 फीट का पहाड़ चढ़ने की योजना बना रहे हैं। 

मैलनी ने पोस्ट में लिखा, “उसके (ट्रेवर) पास पैर हैं और मेरे पास आंखें हैं। यह हमारी ड्रीम टीम है।” पिछले दिनों दोनों कोलोराडो के पहाड़ों पर घूमे। इस यात्रा में ट्रेवर मैलनी को एक चेयर के सहारे पीठ पर बैठाए रखे। मैलनी कहती हैं, “हम दोनों में गजब का तालमेल हैं। मैं ट्रेवर को सीन डिस्क्राइब करती हूं और वे आगे बढ़ते रहते हैं। मैं जिदंगी भर व्हीलचेयर पर रही। इस तरह पहाड़ों पर आकर मुझे अच्छा लगता है। यह मेरे जीवन का सबसे अच्छा एक्सपीरिएंस है।”

ग्लूकोमा की वजह से ट्रेवर के आंखों की रोशनी गई

मैलनी को बचपन से ही स्पाइना बिफिडा (रीढ़ की हड्डी विकसित न हो पाना) है। इस वजह से वह व्हीलचेयर के सहारे अपने काम करती हैं। उधर, ट्रेवर के आंखों की रोशनी ग्लूकोमा की वजह से चली गई। अब दोनों साथ-साथ हाइकिंग करते हैं। वे कहते हैं कि हम दो हैं, हमारी दो आखें हैं और दो पैर हैं। दोनों की मुलाकात एडेप्टिव एक्सरसाइज क्लासेस में हुई थी। इसके बाद दोनों ने ट्रैकिंग साथ करने का फैसला किया। 


About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*