Breaking News
Home 25 खबरें 25 मप्र / भाजपा में नया पैटर्न; पहले रायशुमारी, फिर ऑब्जर्वर कराएंगे प्रदेश अध्यक्ष का चुनाव

मप्र / भाजपा में नया पैटर्न; पहले रायशुमारी, फिर ऑब्जर्वर कराएंगे प्रदेश अध्यक्ष का चुनाव

Spread the love

भोपाल भाजपा ने इस बार संगठन के चुनाव का पैटर्न बदला है। पहली बार प्रदेशाध्यक्ष के चुनाव के लिए पहले रायशुमारी के लिए दिग्गज नेता मप्र आएंगे। माना जा रहा है कि रायशुमारी के लिए राष्ट्रीय महामंत्री राम माधव व प्रवक्ता विजय शास्त्री अगले सप्ताह भोपाल आएंगे। दोनों मप्र के बड़े नेताओं के साथ-साथ पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, मप्र के केंद्रीय नेताओं के साथ बात करेंगे। रायशुमारी के बाद रिपोर्ट केंद्रीय संगठन को भेजी जाएगी। इसके बाद मुख्तार अब्बास नकवी और अश्विनी चौबे बतौर ऑब्जर्वर भोपाल आएंगे।

पार्टी के वरिष्ठ नेताओं का कहना है कि राष्ट्रीय अध्यक्ष के निर्देश पर पूरे देश में इस बार यह पैटर्न अपना जा रहा है। इससे चुनाव के आसान होने की बात कही जा रही है। साथ ही विवाद की स्थिति भी नहीं बनेगी। इधर, मप्र में मंडल अध्यक्षों से लेकर जिलाध्यक्षों के चयन में भी यही पैटर्न अपनाया गया है। यह और बात है कि अभी तक कई जिलों के जिलाध्यक्षों के नामों की घोषणा नहीं की गई। बताया जा रहा है कि केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, थावरचंद गेहलोत, फग्गन सिंह कुलस्ते और केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल के साथ तमाम सांसदों के साथ प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह और संगठन महामंत्री सुहास भगत बात कर रहे हैं।
भाजपा विधायक दल की बैठक 16 को : विधानसभा का शीतकालीन सत्र 17 दिसंबर से प्रारंभ हो रहा है। इसी की तैयारियों के मद्देनजर 16 दिसंबर को पार्टी दफ्तर में विधायक दल की बैठक बुलाई है। इसमें सत्तारुढ़ सरकार को घेरने की रणनीति बनेगी।

33 जिलाध्यक्ष घोषितभोपाल शहर और इंदौर शहर और ग्रामीण पर नहीं बनी सहमति

लंबे इंतजार के बाद अंतत: गुरुवार देर रात 33 भाजपा जिलाध्यक्षों की घोषणा हो गई। प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह और प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत ने इस संबंध में वरिष्ठ नेताओं से सहमति के बाद सूची जारी की है। माना जा रहा है कि इस बार संगठन ने अपनी जमावट की है। भोपाल शहर, इंदौर शहर व ग्रामीण और ग्वालियर में अभी भी आम राय नहीं बनी। भाजपा के 56 संगठनात्मक जिलों में से 23 बाकी हैं। प्रदेश निर्वाचन प्रभारी हेमंत खंडेलवाल व सह प्रभारी विजेश लुनावत ने रायशुमारी के बाद नामों की सूची संगठन को सौंपी थी।

जिला अध्यक्षों की सूची इस प्रकार है– योगेश गुप्ता (मुरैना), नाथू सिंह गुर्जर (भिंड), सुरेंद्र बुधौलिया (दतिया), सुरेंद्र जाट (श्योपुर), राजू बाथम (शिवपुरी), गजेंद्र सिंह सिकरवार (गुना), उमेश रघुवंशी (अशोक नगर), अखिलेश अयाची (निवाड़ी), मलखान सिंह (छतरपुर), रामबिहारी चौरसिया (पन्ना), इंद्र शरण सिंह चौहान (सीधी), वीरेंद्र गोयल (सिंगरौली), ब्रजेश गौतम (अनूपपुर), जीएस ठाकुर (जबलपुर नगर), रानू तिवारी (जबलपुर ग्रामीण), रामरतन पायल (कटनी), नरेंद्र राजपूत (डिंडोरी), भीष्म द्विवेदी (मंडला), रमेश भटेरे (बालाघाट), बंटी साहू (छिंदवाड़ा), अमर सिंह मीणा (हरदा), केदार सिंह मंडलोई (भोपाल ग्रामीण), राकेश जादौन (विदिशा), रवि मालवीय (सीहोर), दिलवर यादव (राजगढ़), सेवादास पटेल (खंडवा), ओम सोनी (बड़वानी), वकील सिंह (अलीराजपुर), राजेंद्र सिंह राठौर (खरगौन), विवेक जोशी (उज्जैन नगर), बहादुर सिंह बोरमुंडला (उज्जैन ग्रामीण), अंबाराम कराड़ा (शाजापुर) और राजेंद्र सिंह लुनेरा (रतलाम) जिलाध्यक्ष को बनाया गया है।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*